चीन का भू-राजनीतिक हथियार

अतुल शर्मा
कई शताब्दियों पहले, महान चीनी दार्शनिक सूर्य त्ज़ु ने देखा था: “पानी की प्रकृति ऐसी है कि यह ऊंचाइयों तक पहुंचता है, और जब एक बांध टूट जाता है, तो पानी अथक बल के साथ झरते हुए फिर तराई क्षेत्रों तक पहुँचता है और तब पानी का आकार सेना जैसा दिखता है। दुश्मन की असमानता का लाभ उठाएँ और जब उसे इसकी उम्मीद न हो तो उस पर ...

अब बलूचिस्तान की आज़ादी का समय

Johar पाकिस्तान में बलूच राष्ट्रवादीयों पर पाकिस्तानी सेना और पाकिस्तानी शासन द्वारा लगातार किए जा रहे दमन के चरमोत्कर्ष के बाद अपनी आज़ादी के लिए पाकिस्तानी सेनाओं पर लगातार हमलों में वृद्धि ने CPEC सहित चीन की महत्वाकांक्षी बेल्ट एंड रोड परियोजनाओं को जोखिम में डाल दिया है और इसके कारण लागतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। जबकि अरब सागर में स्थित ग्वादर पोर्ट पर उसके रणनीतिक हितों को लेकर ...

झारखंडी राजनीति की फितरत

Johar झारखंड की राजनीति एक लाइन में लिखनी हो तो बस इतना ही काफी है, इसकी फितरत चुनाव पूर्व मैदान में और इसके बाद विधानसभा में दिलचस्प मोड़ लेती रही है। न चुनाव तक चैन, न चुनाव के बाद। बेचैन राजनीति राज्य को जितनी तसल्ली दे सकती है, उतना झारखंड को दे रही है। परिणाम, ब्यूरोक्रेसी में बार-बार बदलाव, वक्र्स और खैरात वाले विभागों में खूब दिलचस्पी, राशि का एकतरफा प्रवाह ...
 

समाजनामा

///////////////////////////////////////////////////////////////////////